मंगलवार, 18 दिसंबर 2012

वो रौंदी गयी बार बार

वो रोयीं थी जब उसको
रौंदा गया था बार बार
उसे लगा की कोई तो होगा
इनमे से, जो बाप या भाई होगा
और, बचा लेगा उसे इस रिश्ते से
पर भाई ही, कसाई हो चुका था 
जो नहीं हुए, वो तमाशबीन थे
वो रौंदी गयी बार बार
जो रौंद रहे थे
थोड़ी देर बाद वही, किसी को
बहन कह कर पुकारेगे
किसी को, माँ कह कर लिपटेगे
किसी को, बेटी कह कर गोद में उठाएगे
और तब, भूल जायेगे की थोड़ी देर पहले
उसने एक माँ ,बेटी और बहन को रौंदा था
आज ही वह किसी मंदिर जायेगा
की उसे इस गुनाह की सजा से बचा लो
माँ ,देवी माँ 
और भूल जायेगा की, थोड़ी देर पहले उसने
इन्ही देवी माँ की अस्मिता को गाली दिया है
क्यों भूल जाते है लोग, आखिर क्यों
क्यों हर पल कोई बेटी बहन या माँ
रौंदी जाती है, अपनों द्वारा ही
क्या कोई कृष्ण नहीं देख रहा इसे
जिसने केवल साड़ी खींचने पर
भारत को, महाभारत दे दिया
क्या कोई राम नहीं है शेष जिसने
सोने की लंका को खाक कर दिया
नहीं ,तो फिर ये मेरा महान भारत नहीं
कही खो गया मेरा वो महान भारत
जवाब कौन देगा ,हिसाब कौन देगा 



गुरुवार, 13 दिसंबर 2012

मैंने कसम खाई सच पर चलते जाने की

मैंने कसम खाई सच पर चलते जाने की 
लोगो की भी जिद है बस मुझे मिटाने की
चाहे कितनी ताकत हो या आंधियां चले
मेरी जिद फिर भी एक दिया जलाने की ।

शुक्रवार, 7 दिसंबर 2012

खलनायक तो बहुत है, जननायक बस एक

खलनायक तो बहुत है, जननायक बस एक
उनका दिल्ली में करें हम मिलकर अभिषेक ।

सत्य अहिंसा क्रांति का ,जो देता सन्देश
वही मुलायम सिंह है, सबके मन में शेष ।

प्रगति और समृद्धि का जिसने छेड़ा मंत्र
बहती नदी विकास की, यत्र, तत्र, सर्वत्र ।

लाखो युवकों को दिया रोजगार सम्मान
विद्द्या धन से भी बढ़ा कन्याओ का मान ।

आंधी समाजवाद की  है फैली चारो ओर
सिर्फ मुलायम सिंह का गाँव गाँव में शोर ।

दूत मुलायम सिंह का है, डॉ0 सी पी राय
जनता के दरबार में, बता रहा अभिप्राय  ।

अमन चैन चारो तरफ ,सभी हुए खुशहाल
यह विकास का दौर है,यह समृद्धि का काल ।

डंका बजता पूरे देश में ,हैरत में सब लोग
उत्तम बना प्रदेश यह अच्छे है ग्रह योग ।

करें फैसला आज हम अब करें बड़ी तैयारी
नेता जी को दिल्ली में अब बैठाने की बारी ।

खलनायक तो बहुत है जननायक बस एक